उत्तराखंड

इंदिरा हृदयेश से क्षमा याचना करने से मामले ने ले लिया है गंभीर मोड़

cm of uttrakhnd
159views

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आधी रात के बाद 12.38 बजे ट्वीट कर विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश से क्षमा मांगी। मंगलवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने एक कार्यक्रम में इंदिरा हृदयेश पर अमर्यादित टिप्पणी की थी। इसे लेकर सूबे की सियासत में बड़ा बवाल मच गया है।

वीर गोरखा कल्याण समिति द्वारा गरीबों को कंबल वितरण

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने इस तरह के बयान को नारी शक्ति का अपमान बताया। अब आधी रात के बाद खुद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के ट्वीट कर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश से क्षमा याचना करने से पूरे मामले ने गंभीर मोड़ ले लिया है। माना जा रहा है कि भाजपा आलाकमान इस प्रकरण को लेकर अत्यंत गंभीर है।

पीएम को भेजेंगे पत्र

वहीं, डा. इंदिरा हृदयेश को लेकर की गई टिप्पणी से कांग्रेसियों का पारा सातवें आसमान पर है। जिलाध्यक्ष सतीश नैनवाल के मुताबिक आज नैनीताल के सभी ब्लॉक और महानगर कमेटियां अपने-अपने क्षेत्र में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के पुतले फूंकने के साथ पीएम को पत्र भेजेंगे। इस पत्र में वे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करेंगे। इधर, कांग्रेस की वरिष्ठ नेता के खिलाफ की गई अभद्र टिप्पणी के बाद भाजपा भी असहज महसूस कर रही है।

मुख्यमंत्री आज लौटेंगे दून

कोरोना संक्रमण से पार पाने के बाद दो दिन पहले ही होम आइसोलशन पूरा कर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बुधवार दोपहर देहरादून लौट आएंगे। मुख्यमंत्री को गत 28 दिसंबर को दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया था। शनिवार को कोविड जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद मुख्यमंत्री एम्स से डिस्चार्ज होकर दिल्ली स्थित आवास में होम आइसोलेशन में थे। सोमवार को उनकी पत्नी और पुत्री भी एम्स से डिस्चार्ज हो गईं। मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र बुधवार दोपहर पत्नी और पुत्री के साथ देहरादून लौट आएंगे।

UP सरकार और UK सरकार को लव जिहाद से जुड़े कानूनों को लेकर नोटिस जारी