राष्ट्रीय

कलेक्ट्रेट में मीटिंग के दौरान पूरे समय मंत्री के मुंह से मास्क रहा नदारद

ygi gov
283views

अमेठी: यूं तो आम जनता से कोरोना नियमों का पालन करने की अपेक्षा की जाती है। लेकिन सरकार में बैठे जिम्मेदार लोग खुद नियमों को ताक पर रख देते हैं। उत्तर प्रदेश के अमेठी में एक कार्यक्रम में पहुंचे योगी सरकार के मंत्री मोहसिन रजा ने मास्क नहीं लगाया। यहां पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती को भव्य रूप से मनाने के लिए एक मीटिंग लेने वह आए थे। मोहसिन रजा अमेठी के प्रभारी मंत्री भी हैं।

किसानों ने 24 घंटा लंबा भूख हड़ताल किया शुरू

कलेक्ट्रेट के सभागार में अधिकारियों के साथ मीटिंग के दौरान पूरे समय मंत्री के मुंह से मास्क नदारद रहा। इस पर जब मीडिया ने उनसे सवाल किया तो मंत्री ने जवाब में कहा, ‘अगर इसको लगाकर मैं बात करूंगा तो मेरे चेहरे का हाव-भाव सही प्रकट नहीं हो पाएगा इसलिए मास्क नीचे कर लेता हूं।’

अमेठी जिले के प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा ने कहा

‘यदि आप दो गज की दूरी पर हैं और जहां पर भीड़ नहीं है, अगर वहां पर आप मास्क नहीं लगाए हैं तो मुझे लगता है कि ऐसी कोई दिक्कत की बात नहीं है। लेकिन अगर हम आपके बीच में हैं और भीड़ में हैं और दो गज की दूरी पर नहीं है तो मास्क लगाना जरूरी है।’

मंत्री यहीं नहीं रुके। आगे उन्होंने कहा, ‘मास्क आपकी और हम सबकी सुरक्षा के लिए है। लेकिन अगर हम आपसे बात कर रहे हैं और हमने नीचे कर लिया है तो मेरे चेहरा को भी आप देख रहे हैं मेरे शब्दों को भी आप सुन रहे हैं। मैं इसको बंद कर लूंगा तो शब्द तो आप सुनेंगे लेकिन मेरे चेहरे का हाव भाव सही प्रकट नहीं हो पाएगा, इसलिए मैं इसको नीचे कर लेता हूं। ऐसी कोई बात नहीं है।’

इसके बाद मंत्री मोहसिन रजा पत्रकारों को ही उल्टे समझाने लगे। उन्होंने कहा कि सवाल करने से पहले ये पूछा कीजिए, कि हम जो संदेश दे रहे हैं, उस पर पूरे देश के लोगों को जागरूक करना हमारा आपका काम है। उन्होंने ये भी कहा कि हमारी सरकार किसानों के हित में काम कर रही है।

कृषि मेला, गोष्ठी और प्रदर्शनी आयोजित करने का निर्णय

25 दिसंबर 2020 को होने वाले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती को भव्य रूप से मनाए जाने के संबंध में मंत्री ने डीएम अरुण कुमार, एसपी दिनेश सिंह के साथ बैठक की। इस बैठक में प्रभारी मंत्री ने समस्त अधिकारियों को निर्देश दिया कि अटल जयंती को सुशासन दिवस के रूप में मनाए जाने साथ ही सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए संकल्पित है। इस संकल्प की पूर्ति के लिए प्रदेश के समस्त विकास खंडों में 25 दिसंबर को सुबह 10:30 बजे से कृषि मेला, गोष्ठी और प्रदर्शनी आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। इसी के तहत अमेठी जिले के सभी विकास खंडों में भी कार्यक्रम का भव्य रुप से आयोजन किया जाएगा।

अध्यक्ष अमित पोखरियाल को मिला समाजिक योगदान में अन्तर्राष्ट्रीय पुरस्कार