राष्ट्रीय

किसान आंदोलन के बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र को पाक साजिशों को लेकर किया आगाह

किसान आंदोलन
131views

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब को अशांत करने की पाकिस्तान की साजिशों को लेकर केंद्र सरकार को अलर्ट किया है। उन्होंने कहा कि अशांत पंजाब पाकिस्तान की नीतियों को सूट करता है। पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान आंदोलन की शुरुआत से ही पाकिस्तान सीमापार घुसपैठ की कोशिश कर रहा है और बड़े पैमाने पर ड्रोन के जिए हथियार भेज रहा है।

पौड़ी में अधिकारियों के साथ जनपद के विकास कार्यो की समीक्षा बैठक

न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए एक इंटरव्यू में कैप्टन ने केंद्र को पाकिस्तान की चालों से सतर्क रहने की अपील की। उन्होंने कहा कि पड़ोसी देश पंजाब में हथियारों के अलावा पैसे और हेरोइन भी भेज रहा है। अमरिंदर सिंह ने कहा कि पाकिस्तान के स्लीपर सेल हैं जिसे वह ऐक्टिवेट कर सकता है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि

वह लंबे समय से केंद्र सरकार को चेतावनी देते आ रहे हैं कि पाकिस्तान घुसपैठ की कोशिश कर रहा है। उनके हथियार आ रहे हैं। यहां उनके स्लीपर सेल हैं जिन्हें वह जब चाहे तब ऐक्टिव कर सकता है।

कैप्टन ने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ अक्टूबर में जबसे किसान आंदोलन शुरू हुआ है तब से पाकिस्तान से अवैध तौर पर आने वाले हथियारों में इजाफा हुआ है। उन्होंने कहा कि जब नवंबर में किसानों का आंदोलन दिल्ली बॉर्डर पर शिफ्ट हुआ तब वह गृह मंत्री अमित शाह से मिले थे और उन्हें पंजाब को अशांत करने की पाकिस्तान की कोशिशों के प्रति आगाह किया था।

राहुल गांधी पर भड़कीं स्मृति ईरानी, बोलीं- उनका इरादा देश में कानून-व्यवस्था भंग करने का है

पंजाब के मुख्यमंत्री ने पूछा

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सिंघु बॉर्डर पर ‘कुछ उपद्रवियों’ की तरफ से शुक्रवार को की गई हिंसा की निंदा करते हुए केंद्र से इसकी जांच कराने की मांग की। पंजाब के मुख्यमंत्री ने पूछा, ‘क्या वे वास्तव में स्थानीय लोग थे ।’ कैप्टन ने उनका पता लगाने और वह कहां से आये थे, इस बारे में जानने के लिए पूरे मामले की उचित तरीके से जांच कराने की मांग की।

उन्होंने कहा, ‘मैं यह नहीं मान सकता कि स्थानीय लोग इस तरह से किसानों के खिलाफ हो जाएंगे । हित साधने के लिए हो सकता है कि इन उपद्रवियों को समस्या पैदा करने के लिए दूसरे स्थानों से बुलाया गया हो।’ कैप्टन ने कहा कि स्थानीय लोगों ने किसानों को ‘गद्दार’ करार दिया है, और इसे वह सच नहीं मान सकते हैं।

Budget Session 2021: राज्यसभा में सदन की कार्यवाही शुरू