राष्ट्रीय

जीटीबी अस्पताल के अंदर दिनदहाड़े एनकाउंटर, इलाज के लिए आए कैदी को भगा ले गए बदमाश

जीटीबी अस्पताल
94views

नई दिल्ली: दिल्ली के जीटीबी अस्पताल कैंपस में गुरुवार को दिनदहाड़े पुलिस और बदमाशों के बीच एनकाउंटर हुआ। ये बदमाश अपने कैदी साथी को भगाने के लिए पहुंचे थे। पुलिस की तरफ से जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश की मौत हो गई जबकि एक अन्य बदमाश घायल हो गया। हालांकि, बदमाश अपने कैदी साथी को भगाकर ले जाने में कामयाब हो गए। इससे पहले बदमाशों ने पुलिस पार्टी पर कई राउंड फायरिंग की। दिल्ली पुलिस के ईस्टर्न रेंज के जॉइंट सीपी ने कहा कि कैदी कुलदीप फज्जा को मेडिकल के लिए जीटीबी अस्पताल में लाया गया था।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत एहतियातन दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती होंगे

अस्पताल के बाहर पांच लोगों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर फज्जा को पुलिस की कस्टडी से छुड़ाने की कोशिश की। बदमाश स्कॉर्पियों में सवार होकर पहुंचे थे। पुलिस पार्टी के साथ हुए इस गोलीबारी के दौरान जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश की मौत हो गई जबकि एक अन्य घायल हो गया। हालांकि कैदी फज्जा अपने बदमाश साथियों के साथ भागने में सफल हो गया।

जितेंद्र योगी गैंग का सदस्य है फज्जा

जानकारी के अनुसार कैदी फज्जा बदमाश जितेंद्र गोगी गैंग का सदस्य है। इस पर हत्या जैसे और कई संगीन 70 से अधिक केस हैं। एसएसआई ब्रह्मपाल के नेतृत्व में पुलिस टीम फज्जा को लेकर जीटीवी अस्पताल लेकर आई थी। क्राइम ब्रांच और जिले के आला अफसर घटना की तफ्तीश में जुट गए हैं। गोलीबारी में घायल अंकेश मुंडका का रहने वाला है, जिस पर दो मर्डर और एक हत्या के प्रयास का केस दर्ज है‌‌। यह जानलेवा हमले के मामले में वॉन्टेड था। मृतक बदमाश रवि बेगमपुर का रहने वाला है, जिस पर हत्या के कई केस हैं।

पहले से घात लगाकर बैठे थे कैदी के साथी

जानकारी के अनुसार कैदी फज्जा को मंडोली जेल से जीटीबी अस्पताल में मेडिकल के लिया लाया गया था। जबकि उसके पांच साथी पहले से ही अस्पताल के बाहर घात लगाकर बैठे हुए थे। उन्हें इस बात की पक्की जानकारी थी कि फज्जा को आज अस्पताल लाया जाएगा। जैसे ही पुलिस कैदी को लेकर अस्पताल पहुंची। उन लोगों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग शुरू कर दी।

तड़के एनकाउंटर में पकड़े गए थे दो इनामी बदमाश

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने गुरुवार तड़के करीब 5 बजे हुए एक एनकाउंटर में दो इनामी बदमाशों को गिरफ्तार किया । एनकाउंटर के दौरान पुलिस को सूचना मिली थी कि बदमाश भैरो मार्ग से गुरजरने वाले हैं। पुलिस टीम पहले ही वहां ट्रैप लगाकर मौजूद थी। बदमाशों की नीली कार आते देख पुलिस ने उन्हें रुकने का इशारा किया। इस पर बदमाशों में कार की स्पीड बढ़ा दी। उनकी कार बैरिकेड से टकरा गई। इसके बाद बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान दो पुलिसकर्मियों को गोली लगी। जवाबी कार्रवाई में दोनों बदमाशों के पैर में गोली लगी। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

 कल किसानों का भारत बंद, सड़क और रेल मार्ग पर कितना पड़ेगा असर