राष्ट्रीय

पंचायत में पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन
199views

गाजियाबाद। दिल्ली-एनसीआर के चारों बॉर्डर (सिंघु, टीकरी, शाहजहांपुर और गाजीपुर बॉर्डर) पर तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में धरना प्रदर्शन जारी है। इस बीच यूपी गेट पर किसानों की महापंचायत जारी है। जिसमें किसान आंदोलन के मद्देनजर कई अहम निर्णय लिए जा सकते हैं। पंचायत में शामिल होने के लिए मुजफ्फरनगर से भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत पहुंचे हैं। उनके साथ बड़ी संख्या में भाकियू कार्यकर्ता भी आए हैं।

पीएम के मुख्य सलाहकार पी के सिन्हा ने अपने पद से दिया इस्तीफा

किसान आंदोलन में शामिल किसान नेता गौरव टिकैत के मुताबिक

उनके दादा और किसान नेता चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत के गांव सिसौली मुजफ्फरनगर स्थित गांव में हर माह होने वाली पंचायत इस बार बुधवार को यूपी गेट पर आयोजित की जा रही है। इसमें आंदोलन को लेकर आगे की रणनीति तय की जाएगी। इस बीच खबर आई है कि भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्त नरेश टिकैत कुछ देर में आने वाले हैं। राकेश टिकैत फिलहाल यूपी गेट पर नहीं हैं।

उधर, पंचायत में उत्तर प्रदेश के सभी जिलाध्यक्ष शामिल हुए हैं। बता दें कि किसान नेता राकेश टिकैत पिछले शनिवार से पश्चिम बंगाल के दौरे पर थे। इस बीच उन्होंने यूपी लौटते ही एलान किया है कि न केवल यूपी गेट पर पक्के निर्माण किए जाएंगे, बल्कि जरूरत पड़ने पर चिल्ला बॉर्डर पर प्रदर्शन किया जाएगा। राकेश टिकैत के इस बयान से गौतमबुद्धनगर के साथ-साथ गाजियाबाद जिला प्रशासन भी सकते में हैं और हालात पर नजर रखना शुरू कर दिया है।

दिल्ली से आने वाली लेन खुली, मिली राहत

वहीं, तीन कृषि कानूनों के विरोध में यूपी गेट पर चल रहा धरना बुधवार को भी जारी है। वहीं, तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में 26 जनवरी को निकली ट्रैक्टर रैली के दौरान हुए उपद्रव के बाद से यूपी गेट पर बंद राष्ट्रीय राजमार्ग-नौ की दिल्ली से आने वाली लेन रविवार देर रात खुल गई। इससे दिल्ली से गाजियाबाद आने वाले वाहन चालकों को राहत मिली। हालांकि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे की दिल्ली से आने वाली लेन यहां पर अब भी बंद है। वहीं, दिल्ली जाने वाली सभी लेनों पर प्रदर्शनकारियोंका कब्जा है। वाहन चालकों ने आने-जाने वाली सभी लेनों को खोलने की मांग की है।

यूपी गेट पर 28 नवंबर से प्रदर्शन चल रहा है। एक दिसंबर तक प्रदर्शनकारियों का फ्लाईओवर के नीचे कब्जा था। दो दिसंबर को फ्लाईओवर के ऊपर भी दिल्ली जाने वाली सभी लेनों पर प्रदर्शनकारियों ने कब्जा कर लिया था। साथ ही हाईवे पर टेंट लगाकर मंच बना दिया था। दिल्ली से आने वाली सभी लेन खुली थीं। बीच-बीच में प्रदर्शन के दौरान कुछ घंटों के लिए आने वाली लेनों को भी बंद किया था, लेकिन उसे प्रशासन ने खुलवा दिया था।

26 जनवरी को प्रदर्शनकारियों के ट्रैक्टर परेड के दौरान उपद्रव हुआ, तो दिल्ली पुलिस ने दिल्ली से आने वाली सभी लेनों को भी बंद कर दिया। दो मार्च को राष्ट्रीय राजमार्ग-नौ की गाजियाबाद आने वाली लेन पांच घंटे के लिए खुली। उस दौरान बताया गया था कि एंबुलेंस के लिए लेन खोली गई है, कार चालक भी गुजर रहे थे। अब रविवार देर रात 11 बजे दिल्ली पुलिस ने इस लेन को खोल दिया है।

सरकारी बैंकों के दो दिन पर हड़ताल पर चले जाने से लोगों को खासी परेशानी