राष्ट्रीय

प्रियंका गांधी वाड्रा ने बिजनौर में किसान महासभा को किया संबोधित

प्रियंका गांधी वाड्रा
252views

मेरठ। LIVE Bijnor Kisan Mahapanchayat: बिजनौर के चांदपुर में सोमवार को किसानों को संबोधित करते हुए प्रियंका वाड्रा ने कहा कि ये तीनों कृषि कानून किसानों के लिए नहीं खरबपतियों के लिए लागू की गई है। किसान 80 दिनों से ठंड में दिल्‍ली बार्डर पर बैठे हुए हैं। साथ ही गर्मी का सामना कर रहे हैं। लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए तैयार नहीं है। उन्‍होंने कहा कि पीएम को पहले चुनाव में लोगों ने भरोसा करके जीताया लेकिन प्रधानमंत्री ने भरोसा तोड़ा है। दूसरे चुनाव में रोजगार देने का वादा किया लेकिन कुछ नहीं लोगों को अभी तक रोजगार नहीं मिला। उन्‍होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने किसानों के गन्‍ना बकाया का भी भूगतान नहीं किया। 16000 करोड़ के दो हवाई जहाज खरीदे, लेकिन किसानों के गन्‍ना भुगतान के लिए इनके पास पैसे नहीं है।

खत्म हुई टनल में फंसे व्यक्तियों के जीवित होने की आस

किसानों के लिए सरकार के पास पैसे नहीं

16 हजार करोड के दो हवाई जहाज खरीदे। जबकि एक हवाई जहाज से ही किसानों का गन्‍ना बकाया चुकया जा सकता था। तमाम योजनाओं के लिए पैसे हैं लेकिन किसान के लिए नहीं है। प्रियंका वाड्रा ने कहा जब किसान ही मना कर रहा तो फिर क्‍यों कृषि कानूनों को वापस नहीं ले रहे हैं। जमाखोरी पर जवाहरलाल नेहरु ने कानून बनाया था। लेकिन अब फिर जमाखोरी होने लगी है। जमाखोरी हो रही है, इसे लेकर कोई रोक नहीं है।

इन कृषि कानूनों से बढ़ेगी जमाखोरी

तीनों कानूनों पर स्थिति साफ करते हुए बताया कि पहले कानून से जमाखोरी बढ़ेगी। दूसरा कानून से बड़े-बड़े उद्योगपतियों की जेबे भरेंगी। सरकारी मंडियां बंद होंगी। प्राइवेट मंडियों को बढ़ावा मिलेगा। इससे आपका समर्थन मूल्‍य समाप्‍त हो जाएगा। तीसरे कानून से कांट्रेक्‍ट के तहत किसानों के फसल को वो खरीदेंगे। इसमें खास बात है कि आगे चल कांट्रेक्‍ट करने वाले आपका गन्‍ना नहीं लेगे। जिसके बाद किसान वेबस हो जाएगा। यह तीनों कानून पूजीपतियों के लिए बनाया गया है।

किसानों के पास नहीं जाते पीएम मोदी

कहा कि पीएम चीन जाते हैं, विदेशों का दौरा करते हैं लेकिन दो से तीन किलोमीटर जाकर किसानों से बात नहीं कर पा रहे हैं। इसके साथ ही सांसद में खड़ें होकर किसानों का मजाक उडा रहे हैं। जिस किसान का अपमान कर रहे हैं उसका बेटा सीमा पर तैनात है। सीमा पर देश के लिए लड़ रहा है। कहा कि कृषि कानून से देश का किसान रो रहा है। इसको वापस लीजिए। प्रियंका वाड्रा ने कहा कि कुछ ऐसे नेता होते हैं कि भूल जाते हैं, गलत हो जाता है तब देशवासी उसको सबक सिखाते हैं। तब इस बारे में उसे पता चलता है।

विश्व रेडियो दिवस पर उत्तरांचल विश्वविद्यालय में गेस्ट लेक्चर का आयोजन