उत्तराखंड

मुख्यमंत्री रावत ने काली गंगा प्रथम लघु जल विद्युत परियोजना का किया लोकार्पण

काली गंगा प्रथम लघु जल विद्युत परियोजना
120views

रुद्रप्रयाग। सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आज गुरुवार को रुद्रप्रयाग ने कालीगंगा-1 जल विद्युत परियोजना का लोकार्पण किया और फिर कोटमा पहुंचेंगे। यहां से वह हेलीकॉप्टर के जरिये अगस्त्यमुनि आए और हिलांस के आउटलेट का उद्घाटन के साथ ही विभिन्न विकास परक योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया। इस अवसर पर सीएम रावत ने कहा कि वर्ष 2013 की आपदा के बाद उत्तराखंड में बहुत बड़ा नुकसान हुआ है। आपदा के बाद केदारघाटी फिर से उभर रही है। कालीगंगा जल विद्युत परियोजना से स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगी। क्षेत्र की जो भी समस्याएं होंगी उन्हें दूर किया जाएगा। सीएम रावत ने कहा कि हमारी सरकार चारधामों का विकास कर रही है। जिसका फल आने वाले सौ साल तक लोगों को मिलेगा। करोड़ों हिन्दुओं की आस्था चारधामों से जुड़ी हुई हैं। यूजीवीएन के प्रबंध निदेशक जेएस सिंगल ने कहा कि परियोजना से आस-पास के गांवों को लाभ मिल रहा है।

CM रावत ने कहा, शहीद के भाई को मिलेगी सरकारी नौकरी

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कालीमठ में की पूजा-अर्चना

प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत गुरुवार को अपने कार्यक्रम के तहत कालीमठ मंदिर पहुंचे, यहां पूजा अर्चना की। अपने जनपद भ्रमण कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री गुरुवार को सुबह 7.30 बजे कार से अगस्त्यमुनि के खेल मैदान में पहुंचें। जहां से 7.40 बजे हैलीकाप्टर से 7.50 बजे राइंका कोटमा पहुंचे। कोटमा से कार से कालीमठ पहुंचे। मंदिर में दर्शन और पूजा-अर्चना की। उन्‍होंने करीब आधा घंटा मंदिर में ही पूजा अर्चना की। इसके बाद वह कालीगंगा-1 जल विद्युत परियोजना (4000 कि.वा.) का लोकार्पण करने के लिए रवाना हो गए है।

मुख्‍यमंत्री ने वित्त मंत्री का किया अभार प्रकट

मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट कर वर्ष 2021-2022 के बजट में योग नगरी न्यू ऋषिकेश-कर्ण प्रयाग के लिए विशेष प्रविधान करते हुए 420 करोड़ का आवंटित करने पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और रेलमंत्री पीयूष गोयल का आभार प्रकट किया।

ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के लिये 4200 करोङ का परिव्यय प्रस्तावित