राष्ट्रीय

सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों के तहत 9 माह बाद दोबारा पठन-पाठन शुरू

kerala school
249views

तिरुअनंतपुरम। केरल के तमाम स्‍कूलों में आज से काम-काज का संचालन फिर से शुरू कर दिया गया। सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों के तहत शुक्रवार, 1 जनवरी 2021 से राज्‍य भर के स्‍कूलों को दोबारा खोल दिया गया है। स्‍कूल की शिक्षिका ने बताया, ‘लंबे समय के बाद बच्‍चों को दोबारा स्‍कूल में देख प्रसन्‍नता हो रही है। एक क्‍लासरूम में केवल 10 बच्‍चों को प्रवेश की अनुमति दी गई है और सभी सुरक्षात्‍मक उपाय किए गए हैं।’ उल्‍लेखनीय है कि कोविड-19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए बंद स्‍कूलों में 9 माह बाद दोबारा पठन-पाठन शुरू हुआ है।

एक ऐतिहासिक अवसर के साथ वर्ष 2021 के स्वागत के लिए तैयार है आइआइएम सम्बलपुर

देश भर के कुछ राज्यों में कक्षा 9 से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू करने के साथ ही स्कूल खुल गए थे। हालांकि कई राज्य स्कूल को खोलने के पक्ष में नहीं हैं। केरल की तरह जनवरी से कई राज्यों में छठी से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू की जाएंगी। इनमें बिहार, झारखंड सहित कई अन्‍य राज्‍यों के नाम शामिल हैं जहां स्कूलों को खोला जाएगा। जहां तक राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली की बात है तो यहां की सरकार का कहना है कि जब तक कोविड-19 वैक्‍सीन नहीं आ जाता तब तक स्कूल खोलना सही नहीं है।

बंगाल व दिल्‍ली में नहीं खुलेंगे स्कूल

पश्चिम बंगाल में इस साल न तो माध्यमिक और उच्च माध्यमिक की परीक्षाएं होंगी, न ही स्कूल खुलेंगे। शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि माध्यमिक (10वीं बोर्ड) और उच्च माध्यमिक (12वीं बोर्ड) की परीक्षाएं जून में आयोजित की जाएंगी। दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कह चुके हैं कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती, तब तक स्कूल नहीं खोले जाएंगे। इस वक्त स्कूल शुरू करना बच्चों को कोरोना की तरफ धकेलने जैसा होगा।

बिहार, राजस्थान व महाराष्ट्र में खुलेंगे स्कूल

बिहार सरकार के आदेशानुसार, 4 जनवरी 2021 से राज्य भर के सभी सरकारी स्कूलों और कोचिंग सेंटरों को खोल दिया जाएगा। साथ ही इनमें कोविड-19 दिशानिर्देशों का सख्‍ती से पालन होगा। राजस्थान में भी 4 जनवरी से छठी से 12वीं तक स्कूल खोलने की तैयारी है। देश के सर्वाधिक संक्रमित राज्‍य महाराष्ट्र में 9वीं से 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए 4 जनवरी से स्‍कूलों को खोला जाएगा। महाराष्ट्र के अधिकतर क्षेत्रों में स्कूलों को दोबारा शुरू करने का फैसला लिया गया है। यहां स्कूल खुलने के बाद टीचर्स का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा।

झारखंड में शुरू है चल रहे हैं स्कूल

झारखंड में तो दिसंबर में ही स्कूल दोबारा खोल दिए गए। वर्ष 2021 में बोर्ड की आगामी परीक्षाओं के कारण केवल 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूलों को खोला गया है। राज्य सरकार ने तय सुरक्षा दिशा-निर्देशों को सख्ती से लागू करने का आदेश दिया है। यहां स्कूलों में स्टूडेंट्स ऑड-ईवन फार्मूले के तहत कक्षा में पहुंच रहे हैं।

उत्‍तर प्रदेश में स्कूल खोलने की तैयारी

यूपी माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रदेश में कक्षा 6 से 8वीं तक के स्कूल खोलने की तैयारी में है लेकिन अधिकांश प्रधानाचार्यों ने इनकार किया है। प्रधानाचार्यों ने जिला विद्यालय निरीक्षक को रिपोर्ट भेजा है और कहा है कि 9 से 12 वीं तक स्कूल खुल रहे हैं जिसमें भी उपस्थित होने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या काफी कम है।

दिसंबर से चल रहे हैं मध्‍यप्रदेश के स्कूल

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)में 18 दिसंबर से ही स्‍कूलों की शुरुआत हो चुकी है। शिक्षा विभाग ने दिसंबर से यहां के स्कूल खोल दिए। यहां कक्षा 9 और 11 के छात्रों को हफ्ते में एक दो दिन के लिए अभिभावकों की मंजूरी के साथ स्कूल आने की इजाजत दी गई है।

असम व कर्नाटक में 1 जनवरी से खोले गए स्कूल

असम व कर्नाटक सरकार ने आज यानि 1 जनवरी से सभी राज्य सरकार की ओर से संचालित स्कूलों को नियमित रूप से खोल दिया है। कर्नाटक (karnataka)के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने तकनीकी सलाहकार समिति (टीएसी) की सिफारिशों की मानें तो, सूबे के स्कूल 1 जनवरी, 2021 से कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए फिर से खोलने का निर्णय लिया गया है।

डा. निशंक ने किया पब्लिक रिलेशंस सोसाइटी आफ इंडिया द्वारा शुरू की गई नई योजना का अनावरण