राष्ट्रीय

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर से पहुंचे मिलने

216views

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर पिछले 12 दिनों से प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आज ‘भारत बंद’ का आह्वान किया है। देश के अधिकतर राज्यों में बंद का मिला जुला असर देखने को मिला है। इसी बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर से मिलने के लिए पहुंचे हैं। कहीं से भी बड़े उपद्रव की जानकारी सामने नहीं आई है। कुछ राज्यों को छोड़कर देश भर में सुबह के पीक-आवर ट्रैफिक मूवमेंट सामान्य रहा। प्रदर्शनकारियों ने पश्चिम बंगाल, बिहार और ओडिशा में कई स्थानों पर रेलवे ट्रैक अवरुद्ध कर दिए। जयपुर में सत्तारूढ़ कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। दिल्ली और अन्य कई राज्यों में सब्जी मंडियों में आंशिक ‘ प्रभाव देखने को मिला।

मंत्री-विधायकों को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दिया वक्त

कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल इस बंद का समर्थन कर रहे हैं। बता दें कि किसानों और केंद्र सरकार के बीच इसे लेकर कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन अभी तक कोई नतीजा नहीं निकल सका है। किसान यूनियनों ने कहा है कि वे सरकार द्वारा प्रस्तावित किए जा रहे कृषि कानूनों में संशोधन से संतुष्ट नहीं हैं। दोनों के बीच कल (बुधवार) को फिर बातचीत होनी है।

– हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर से मिलने के लिए पहुंचे हैं।

– आम आदमी पार्टी ने एक बार कहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हाउस अरेस्ट किया गया है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कल जब अरविंद केजरीवाल किसानों से मिलने सिंघु बॉर्डर गए थे, उसके बाद से भाजपा बुरी तरह घबरा गई है। भाजपा नेताओं ने उसके बाद से अरविंद केजरीवाल को हाउस अरेस्ट कर रखा है। भाजपा को डर है कि कहीं अरविंद केजरीवाल किसानों के समर्थन में सड़क पर न निकल आएं। सिसोदिया ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि भाजपा वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह को कुछ नहीं कहते क्योंकि वो उनके साथ मिलकर किसानों को देश विरोधी बता रहे हैं।

–  किसान संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया।

– केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हर चीज पर लोगों को गुमराह करना, देश की छवि को बदनाम करने की साजिश करना विपक्षी दलों का पुराना तरीका रहा है। अपने शासन काल में कांग्रेस, एनसीपी, अकाली दल, लेफ्ट पार्टियां इस तरह के बिल का सीना ठोक कर समर्थन करती रही हैं।

– किसानों ने लागत के लिए अतिरिक्त मूल्य की मांग की थी और हम उन्हें लागत से 50% ऊपर दे रहे हैं। कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में कभी कोई पेशकश नहीं की। यह देने वाले पीएम मोदी हैं। विपक्ष जो इन कानूनों को वापस लेने के लिए कह रहा है वह पाखंडी है क्योंकि उन्होंने सत्ता में रहते हुए कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग एक्ट पारित किया था। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में इन कानूनों को लाने की बात कही थी।

– राजस्थान: राज्य के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने जयपुर में ट्रैक्टर चलाकर भारत बंद का समर्थन किया। परिवहन मंत्री ने कहा, ‘केंद्र को समझना चाहिए कि उनका ज़ुल्म, तानाशाही ज़्यादा नहीं चलेगी। किसान विरोधी कानून वापस लेने पड़ेंगे, तमाम विपक्षी पार्टियां इनके विरोध में हैं।

– केंद्र द्वारा लाए गए कृषि कानून देश के किसानों को खत्म कर देंगे। उत्तर भारत में किसानों ने बड़े पैमाने पर आंदोलन शुरू कर दिया है और आज भारत बंद की घोषणा की है। मुंबई डब्बावाला एसोसिएशन बंद का समर्थन करता है। मुंबई डब्बावाला एसोसिएशन के अध्यक्ष सुभाष तालेकर ने यह बात कही है।

– यह आप और किसी भी अन्य पार्टी के बीच टकराव से बचने के लिए एक सामान्य तैनाती है। सीएम को नजरबंद नहीं किया गया। डीसीपी नॉर्थ एंटो अल्फोंस ने यह बात कही है। उन्होंने कहा कि उन्हें नजरबंद करने की बात बिल्कुल गलत है। दिल्ली के सीएम होने के नाते वह जहां चाहे घूम सकते हैं।

– आम आदमी पार्टी (आप) ने ट्वीट करके दावा किया है कि सोमवार को सीएम अरविंद केजरीवाल के सिंघु बॉर्डर पर जाने के बाद दिल्ली पुलिस ने उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया है।

– शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि यह कोई राजनीतिक बंद नहीं है। यह हमारी भावना है। दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसान संगठनों ने कोई राजनीतिक झंडा नहीं उठाया है। यह हमारा कर्तव्य है कि हम किसानों के साथ एकता में खड़े हों और उनकी भावनाओं से जुड़े रहें। यहां कोई राजनीति नहीं है और न ही होनी चाहिए। अगर सरकार के पास दिल है तो प्रधानमंत्री या गृह मंत्री खुद जाकर उनसे(किसानों) बात करेंगे और उनको समझाएंगे।

– बिहार: किसान संघों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के दौरान राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के कार्यकर्ताओं ने दरभंगा के गंज चौक पर टायर जलाया।

– सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे मंगलवार को आंदोलनरत किसानों को समर्थन देने के लिए एक दिवसीय भूख हड़ताल पर बैठे। उन्होंने कहा कि आंदोलन पूरे देश में फैलना चाहिए ताकि सरकार किसानों के हितों के लिए काम करे। एक रिकॉर्ड किए गए संदेश में उन्होंने दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के विरोध की सराहना करते हुए कहा कि आंदोलन के पिछले 10 दिनों में कोई हिंसा नहीं हुई है।

– कर्नाटक: किसान संघों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में कांग्रेस नेताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। केंद्र के खिलाफ नारे लगाए और काले झंडे दिखाए। इस दौरान पार्टी के नेता सिद्धारमैया, बीके हरिप्रसाद, रामलिंग रेड्डी और अन्य उपस्थित रहे।

– दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की एडवाइजरी

– पश्चिम बंगाल: कोलकाता में भारत बंद के समर्थन में विरोध प्रदर्शन कर रही लेफ्ट पार्टियों ने जादवपुर में रेल रोकी।

– कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए सिंघु बॉर्डर पर सुरक्षा बल तैनात है। किसान यूनियनों ने आज कृषि कानूनों के खिलाफ भारत बंद का आह्वान किया है।

– भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि हमारा विरोध पूरी तरह से शांतिपूर्ण होगा। अगर हमारे द्वारा बुलाए गए भारत बंद में कोई 2-3 घंटे के लिए फंस जाता है, तो हम उन्हें पानी और फल देंगे। हमारी एक अलग अवधारणा है।

– समाचार एजेंसी आइएएनएस के अनुसार उत्तर प्रदेश में ‘भारत बंद’ के आह्वान को देखते हुए हाई अलर्ट है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं कि आम लोगों को ‘भारत बंद’ के कारण कोई असुविधा न हो। उन्होंने पुलिस को किसानों के साथ किसी भी टकराव से बचने की सलाह दी है । दिल्ली और अन्य राज्यों से सटे सभी जिलों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है और अतिरिक्त बलों को वहां तैनात किया गया है।

– आंध्र प्रदेश: वामपंथी राजनीतिक दलों ने आज के भारत बंद के समर्थन में विजयवाड़ा में विरोध प्रदर्शन किया।

सरकार हमेशा से किसानों की हितैषी रही है और किसानों के साथ है: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र