राष्ट्रीय

15 साल से ज्यादा उम्र के स्कूली बच्चे ही परेड में होंगे शामिल

रिपब्लिक डे
218views

नई दिल्ली: रिपब्लिक डे परेड में इस बार कई बड़े बदलाव किए गए हैं। कोविड- 19 की वजह से परेड की लंबाई कम की गई है। इस बार परेड विजय चौक से शुरू होकर नैशनल स्टेडियम तक ही जाएगी जबकि हर बार रिपब्लिक डे परेड राजपथ से शुरू होकर लाल किले तक जाती थी। रिपब्लिक डे परेड के जरिए दुनिया को भारत की ताकत, संस्कृति और अनेकता में एकता की झलक दिखाई जाती है।

अभिनेता रजनीकांत का बड़ा एलान

इस बार 3.3 किमी ही लंबी होगी परेड

सूत्रों के मुताबिक कोविड- 19 की वजह से इस बार परेड में कई बदलाव किए गए हैं। परेड विजय चौक से लाल किले तक जाती थी तो इसकी लंबाई 8.2 किलोमीटर होती थी लेकिन इस बार विजय चौक से नैशनल स्टेडियम तक यह 3.3 किलोमीटर ही लंबी होगी। परेड देखने का मौका भी इस बार कम लोगों को मिलेगा। जहां हर साल रिपब्लिक डे परेड देखने 1 लाख 15 हजार लोग मौजूद रहते थे वहीं इस बार 25 हजार लोग ही मौजूद रहेंगे। हर बार 32 हजार टिकट बेचे जाते थे इस बार टिकट लेकर 7500 लोग ही शामिल हो पाएंगे।

परेड में छोटे बच्चे हिस्सा नहीं लेंगे

रिपब्लिक डे परेड में इस बार छोटे बच्चे हिस्सा नहीं लेंगे। 15 साल से ज्यादा उम्र के स्कूली बच्चे ही शामिल होंगे। परेड देखने के लिए स्कूली बच्चों के लिए अलग से एनक्लोजर भी इस बार नहीं होगा। दिव्यांग बच्चे भी इस बार शामिल नहीं होंगे। इस बार खड़े होकर परेड देखने का इंतजाम नहीं होगा। जितनी सीटें होंगी उतने ही लोगों की इजाजत होगी।

परेड के दस्ते की चौड़ाई भी कम होगी

इस बार परेड में हर दस्ते में कम लोग होंगे। दस्ते की चौड़ाई कम होगी ताकि वह सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दूर दूर चल सकें। अब तक हर दस्ते में 144 लोग होते थे लेकिन इस बार 96 लोग ही होंगे। परेड में मौजूद और हिस्सा लेने वाले सभी लोग मास्क पहने होंगे। एंट्री और एग्जिट गेट की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। कोविड बूथ भी बनाए जाएंगे जिसमें डॉक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ मौजूद रहेगा।

15 जनवरी को होगी रिपब्लिक डे परेड की रिहर्सल

रिपब्लिक डे परेड में इंडियन आर्मी का जो दस्ता हिस्सा लेगा वह अभी आर्मी डे परेड की रिहर्सल कर रहा है। 15 जनवरी को आर्मी डे परेड के बाद रिपब्लिक डे की रिहर्सल होगी। परेड में हिस्सा लेने वाले सभी लोगों के लिए कोविड- बबल बनाया गया है यानी इन्हें जरूरी टेस्ट के बाद आइसोलेट किया गया है। कोविड प्रोटोकॉल का पूरा पालन किया जा रहा है।

उत्तराखंड के डीजीपी ने पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक विश्राम का दिया तोहफा